भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

सूरि, सूरी

पुं.

बड़ा विद्वान।
Grametical Category: संज्ञा
Etemology: (सं. सूरिन्)

सूरि, सूरी

पुं.

श्रीकृष्ण का एक नाम।
Grametical Category: संज्ञा
Etemology: (सं. सूरिन्)

सूरी

स्त्री.

विदुषी, पंडिता।
Grametical Category: संज्ञा
Etemology: (सं.)

सूरी

स्त्री.

सूर्य की पत्नी।
Grametical Category: संज्ञा
Etemology: (सं.)

सूरी

स्त्री.

सूली।
Grametical Category: संज्ञा
Etemology: (हिं. सूली)

सूरी

पुं.

भाला।
Grametical Category: संज्ञा
Etemology: (सं. शूल)

सूरी

स्त्री.

सूअर की मादा।
Grametical Category: संज्ञा
Etemology: (हिं. सूअरी)

सूरुज

पुं.

रवि, भानु।
Grametical Category: संज्ञा
Etemology: (हिं. सूर्य)

सूरुवाँ

बहादुर, वीर।
Grametical Category: वि.
Etemology: (हिं. सूरमा)

सूर्पनखा

स्त्री.

सूर्पणखा।
Grametical Category: संज्ञा
Etemology: (सं. शूर्पणखा)
Description with Example: उ.- सूर्पनखा ये समाचार सब लंका गाइ सुनाए-९−५७।

सूर्मि, सूर्मी

स्त्री.

लोहे की बनी हुई स्त्री-मूर्ति (जिसको तपाकर आलिंगन करने से गुरू-पत्नी से व्यभिचार करनेवाले का पाप नष्ट होना कहा गया है)।
Grametical Category: संज्ञा
Etemology: (सं.)

सूर्य

पुं.

सौर जगत का सबसे ज्वलंत पिंड जिससे सब ग्रहों को गरमी और प्रकाश मिलता है, दिनकर, भानु।
Grametical Category: संज्ञा
Etemology: (सं. सूर्य्य)
Proveb\Idiom: मुहा. सूर्य को दीपक दिखाना- (१) जो स्वयं विख्यात हो उसका परिचय देने का (निरर्थक) प्रयत्न करना। (२) जो स्वयं गुणवान है, उसे कुछ बताने का निरर्थक प्रयत्न करना। सूरज पर थूका मुँह पर आता है- साधु-सज्जन और लोकोपकारी व्यक्ति पर कलंक या लांछन लगाने से उसका तो कुछ बिगड़ता नहीं, अंततः स्वयं ही लांछित होना पड़ता है। सूरज पर धूल फेंकना- साधु, निर्दोष और लोकोपकारी व्यक्ति पर कलंक या लांछन लगाना।

सूर्य

पुं.

बारह की संख्या।
Grametical Category: संज्ञा
Etemology: (सं. सूर्य्य)

सूर्य

पुं.

आक, मदार।
Grametical Category: संज्ञा
Etemology: (सं. सूर्य्य)

सूर्य-कर

पुं.

सूर्य की किरण।
Grametical Category: संज्ञा
Etemology: (सं.)

सूर्यकांत, सूर्यकांतमणि

पुं.

एक प्रकार का बिल्लौर या स्फटिक जिसमें से, सूर्य के सामने रखने पर, आँच निकलती है।
Grametical Category: संज्ञा
Etemology: (सं.)

सूर्यकांत, सूर्यकांतमणि

पुं.

आतशी या सूरजमुखी शीशा।
Grametical Category: संज्ञा
Etemology: (सं.)

सूर्यकांति

स्त्री.

सूर्य का प्रकाश या दीप्ति।
Grametical Category: संज्ञा
Etemology: (सं.)

सूर्यग्रहण

पुं.

पृथ्वी और सूर्य के बीच में चन्द्रमा के आ जाने और उसकी छाया पड़ने से होनेवाला ग्रहण जो अमावस्या को होता है।
Grametical Category: संज्ञा
Etemology: (सं.)

सूर्यग्रहण

पुं.

हठयोग में वह अवस्था जब पिंगला नाड़ी से होकर प्राण कुंडलिनी में पहुँचते हैं।
Grametical Category: संज्ञा
Etemology: (सं.)
Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App